LATEST:


विजेट आपके ब्लॉग पर

मंगलवार, 5 जनवरी 2010

दीपक 'मशाल' के काव्य संग्रह "अनुभूतियाँ" का विमोचन कार्यक्रम संपन्न

ब्लॉग जगत में अपनी काव्य प्रतिभा से धक् जमाने वाले दीपक 'मशाल' की काव्य-कृति "अनुभूतियाँ" का आज विमोचन हुआ



सामाजिक संस्था दीपशिखा द्वारा सिटी सेन्टर उरई में आयोजित विचार गोष्ठी, पुस्तक विमोचन एवं सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में नगर निगम आयुक्त झाँसी जे0 पी0 चौरसिया ने काव्य संग्रह ‘अनुभूतियाँ’ के विमोचन कार्यक्रम में कहा कि "समाज के बदलते परिवेश में साहित्य में भी बदलाव आते रहे और साहित्य के इसी बदलते स्वरूप से विभिन्न कालों और धाराओं का प्रतिपादन होता रहा है। वर्तमान काव्य संग्रह ‘अनुभूतियाँ’ नई पीढ़ी को एक दिशा प्रदान करेगी।"

काव्य संग्रह ‘अनुभूतियाँ’ जनपद के कोंच के युवा साहित्यकार दीपक ‘मशाल’ की प्रथम कृति है।


युवा साहित्यकार वर्तमान में ग्रेट-ब्रिटेन में जैव-प्रौद्योगिकी विषय में अपने शोध कार्य को पूरा करने में लगे हैं। विज्ञान पृष्ठभूमि और बिलायती परिवेश के बाद भी दीपक का हिन्दी साहित्य प्रेम कम नहीं हुआ। वर्तमान में वे इण्टरनेट पर ब्लाग के माध्यम से लेखन कार्य में रत हैं।

======================

विस्तृत रिपोर्ट यहाँ पर क्लिक करके बुन्देलखण्ड टुडे (ब्लॉग समाचार पत्रिका) पर पढ़ी जा सकती है

6 टिप्‍पणियां:

डॉ महेश सिन्हा ने कहा…

बधाई दीपक को

'अदा' ने कहा…

Deepak,
bahut bahut badhaii...
hriday se aasheerwaad..
didi..

विनोद कुमार पांडेय ने कहा…

दीपक जी को बहुत बहुत बधाई..

Dileepraaj Nagpal ने कहा…

Deepak Jee Yun Hi Roshani Bikherate Rahen...

अविनाश वाचस्पति ने कहा…

घनघोर बधाई हो
दीपक जी।

राजीव तनेजा ने कहा…

दीपक जी को बहुत-बहुत...बहुतायत मे बधाई