LATEST:


विजेट आपके ब्लॉग पर

शनिवार, 22 मई 2010

दिल्ली में ब्लागर मिलन रविवार को

अविनाश वाचस्पति का स्नेह आमंत्रण

वैसे तो इसे इंटरनेशनल नाम दिया गया है लेकिन जलजला ने चैलेंज किया है की वो वहाँ होंगे और कोई उन्हे पहचान नहीं पाएगा इसलिये इसे ग्लोबल नाम दे दिया जाना चाहिए .

आगे क्या होता है ये राज तो समारोह के बाद ही पता चलेगा . जेब में मुद्रा जरूर ले के जायें और अपना बिल स्वयम चुकाएँ जिससे बाद में मुद्रा संबंधित कोई विवाद न खड़ा हो और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष को बुलाना पड़े .

4 टिप्‍पणियां:

honesty project democracy ने कहा…

ब्लोगर मिलन सार्थक हो और कुछ सार्थकता की ओर हमलोग आगे बढ़ें यही कामना है / आगे भगवान की इक्षा /

महफूज़ अली ने कहा…

कोशिश पूरी है आने की....

डॉ टी एस दराल ने कहा…

गर्मी को गर्मी मरती है ।
कल देखते हैं क्या होता है ।

खुशदीप सहगल ने कहा…

@कुमार जलजला
यार तुम्हारी हरकतों से तो उस ब्लॉगर की याद आ गई जो आईपीएल के पहले एडीशन में कोलकाता नाइटराइडर्स की अंदर की बातें ब्लॉग पर लिखता था...सब सोचते रहे वो ब्लॉगर कौन सा खिलाड़ी है, लेकिन उसकी पहचान आखिर तक नहीं खुल पाई...इसी तरह अब तुम कह रहे हो कि कल तुम ब्लॉगर्स मीट में मौजूद रहोगे...लेकिन तुम्हे कोई पहचान नहीं पाएगा...ये बात कह कर तुमने मेरे सामने एक धर्मसंकट पैदा कर दिया है...इस तरह तो ब्लॉगर्स मीट में जो जो ब्लॉगर्स भी पहुंचेंगे, उन सब पर ही शक किया जाने लगेगा कि उनमें से ही कोई एक कुमार जलजला है...मान लीजिए पच्चीस-तीस ब्लॉगर्स पहुंचते हैं...वैसे ब्लॉगवुड में इस वक्त पंद्रह से बीस हज़ार ब्ल़ॉगर्स बताए जाते हैं...यानि इन पंद्रह से बीस हज़ार से घटकर कुमार जलजला होने की शक की सुई सिर्फ पच्चीस-तीस ब्लॉगर्स पर आ जाएगी...तो क्या तुम इस तरह कल की मीटिंग में मौजूद रहने वाले दूसरे ब्लॉगर्स के साथ अन्याय नहीं करोगे...अविनाश वाचस्पति भाई से भी कहूंगा कि इस विरोधाभास को दूर किया जाए, अन्यथा पूरे ब्लॉगवुड में गलत संदेश दिया जाएगा...

जय हिंद..